19.5 C
Munich
Monday, July 22, 2024

कांग्रेस ने कुछ राज्यों में पार्टी के खराब लोकसभा चुनाव प्रदर्शन का आकलन करने के लिए समितियां गठित कीं


नयी दिल्ली, 19 जून (भाषा) लोकसभा चुनाव के नतीजों के कुछ दिनों बाद कांग्रेस ने बुधवार को अपने शासित राज्यों समेत कुछ राज्यों में पार्टी के खराब प्रदर्शन की जांच के लिए अलग-अलग समितियों का गठन किया।

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कर्नाटक, तेलंगाना और हिमाचल प्रदेश सहित कुछ राज्यों में पार्टी के खराब प्रदर्शन का आकलन करने के लिए छह समितियां गठित की हैं, जहां पार्टी सत्ता में है। इसके अलावा मध्य प्रदेश, दिल्ली और उत्तराखंड में भी पार्टी के खराब प्रदर्शन का आकलन किया जाएगा, जहां हाल ही में संपन्न लोकसभा चुनावों में उसे कोई सीट नहीं मिली।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने एक बयान में कहा, “कांग्रेस अध्यक्ष ने हाल ही में संपन्न आम चुनावों में निम्नलिखित राज्यों में पार्टी के खराब प्रदर्शन का आकलन करने के लिए तत्काल प्रभाव से तथ्य-खोजी समितियों का गठन किया है।”

मध्य प्रदेश के लिए, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण और पार्टी नेताओं सप्तगिरि उलाका और जिग्नेश मेवाणी की सदस्यता वाली तीन सदस्यीय समिति गठित की गई है, जो राज्य में पार्टी की हार के कारणों पर विचार करेगी।

छत्तीसगढ़ में समिति में पूर्व केंद्रीय मंत्री वीरप्पा मोइली और राजस्थान के पूर्व मंत्री हरीश चौधरी शामिल हैं, जबकि पार्टी के वरिष्ठ नेता अजय माकन और तारिक अनवर ओडिशा में कारणों का आकलन करेंगे।

दिल्ली, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश जैसे राज्यों में, जहां पार्टी लोकसभा चुनावों में एक भी सीट जीतने में विफल रही, वरिष्ठ पार्टी नेता पीएल पुनिया और रजनी पाटिल कारणों की जांच करेंगे।

कांग्रेस शासित कर्नाटक के लिए, वरिष्ठ पार्टी नेता मधुसूदन मिस्त्री, गौरव गोगोई और हिबी ईडन खराब प्रदर्शन के लिए तथ्य-खोज करेंगे।

कांग्रेस शासित तेलंगाना में, जहां पार्टी पिछले साल विधानसभा चुनाव जीतकर सत्ता में आई थी, वरिष्ठ पार्टी नेता और राज्यसभा के पूर्व उपसभापति पीजे कुरियन के अलावा रकीबुल हुसैन और परगट सिंह कारणों का आकलन करेंगे।

हालांकि समितियों को अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कोई समय-सीमा नहीं दी गई है, लेकिन इन राज्यों में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन पर कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की पिछली बैठक में चर्चा हुई थी, जिसमें विभिन्न राज्यों के लिए अलग-अलग समितियां गठित करने का निर्णय लिया गया था, जहां पार्टी का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था।

खड़गे ने पिछली सीडब्ल्यूसी बैठक के दौरान कहा था कि वह हार के कारणों पर गौर करने और वहां संगठन को मजबूत करने के उपायों पर काम करने के लिए अलग-अलग राज्यों के लिए अलग-अलग ऐसी समितियां गठित करेंगे।

कांग्रेस ने विपक्षी भारतीय ब्लॉक के हिस्से के रूप में 328 सीटों पर चुनाव लड़कर लोकसभा चुनावों में कुल 99 सीटें जीतीं, जो पिछले आम चुनावों में 52 सीटों से अधिक थी।

(यह रिपोर्ट ऑटो-जेनरेटेड सिंडिकेट वायर फीड के हिस्से के रूप में प्रकाशित की गई है। हेडलाइन के अलावा, एबीपी लाइव द्वारा कॉपी में कोई संपादन नहीं किया गया है।)

3 bhk flats in dwarka mor
- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Canada And USA Study Visa

Latest article