25.6 C
Munich
Monday, June 17, 2024

लड्डू, हवन, होर्डिंग्स: भाजपा, कांग्रेस, टीएमसी लोकसभा वोटों की गिनती से पहले डी-डे की तैयारी में


मंगलवार, 4 जून को होने वाले लोकसभा चुनाव 2024 के लिए मतगणना से पहले दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस मुख्यालय में तैयारियां चल रही हैं। भाजपा मुख्यालय के बाहर कई कार्यकर्ता और कर्मचारी काम करते हुए दिखाई दे रहे हैं। बड़े-बड़े खाना पकाने के बर्तन और आपूर्ति दिखाई दे रही है, जो चुनाव परिणाम की घोषणा के बाद कल होने वाले कार्यक्रमों के लिए व्यापक व्यवस्था का संकेत है।

कांग्रेस और भाजपा दोनों कार्यालयों में, कार्यकर्ता कार्यक्रमों की तैयारियों के बीच एक बड़ी छतरी लगा रहे हैं क्योंकि दोनों पार्टियां मंगलवार को 2024 के लोकसभा चुनावों की मतगणना के महत्वपूर्ण दिन के लिए कमर कस रही हैं।

भाजपा मुख्यालय में केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने भाजपा नेताओं विनोद तावड़े, गौरव भाटिया और विनोद तावड़े के साथ इस महत्वपूर्ण दिन की तैयारियों का निरीक्षण किया। भाजपा कार्यालय में पोस्टर और झंडे भी लगाए गए हैं।

इस बीच, टीएमसी नेता मदन मित्रा ने पार्टी सुप्रीमो ममता बनर्जी और उनके भतीजे अभिषेक बनर्जी की तस्वीरों के साथ यज्ञ किया। समर्थक ‘जॉय बांग्ला’ के बैनर पकड़े हुए दिखाई दे रहे हैं।

यह भी पढ़ें | लोकसभा परिणाम: पीएम मोदी के ऐतिहासिक तीसरे कार्यकाल पर दुनिया की निगाहें

भारत में बदलाव की कोशिशों के बीच पीएम मोदी की नजर ऐतिहासिक तीसरे कार्यकाल पर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार तीसरी बार लोकसभा चुनाव की मतगणना शुरू होने के साथ ही रिकॉर्ड बराबरी करने का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं। यह 80 दिनों तक चले व्यापक मतदान अभ्यास का समापन है। जहाँ अधिकांश विशेषज्ञ भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के पक्ष में हैं, वहीं विपक्षी दल भारत को अप्रत्याशित घटनाक्रम की उम्मीद है।

एग्जिट पोल सर्वसम्मति से एनडीए की बड़ी जीत की भविष्यवाणी करते हैं, जिससे पता चलता है कि यह मोदी के 400 सीटों के महत्वाकांक्षी लक्ष्य को प्राप्त करने के करीब है। इसके विपरीत, इंडिया ब्लॉक 180 के आंकड़े तक पहुंचने के लिए संघर्ष करता है, जो कुल सीटों का मात्र एक तिहाई है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एग्जिट पोल को “मोदी मीडिया पोल” बताकर खारिज कर दिया है, जिससे चुनाव के बाद का माहौल और तनावपूर्ण हो गया है। विपक्षी नेताओं ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) पर चिंता जताते हुए मोदी पर नौकरशाही को प्रभावित करने के लिए एग्जिट पोल का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है। उन्होंने भारत के चुनाव आयोग (ईसीआई) से मतगणना संबंधी दिशा-निर्देशों का पालन करने की अपील की है।

जवाबी हमले में भाजपा ने विपक्ष पर भारत की चुनावी प्रक्रिया की अखंडता को कमजोर करने का प्रयास करने का आरोप लगाया है। भाजपा नेताओं ने चुनाव आयोग से यह सुनिश्चित करने का आग्रह किया है कि कोई भी हिंसा मतगणना में बाधा न डाले।

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने विपक्ष के आरोपों के जवाब में उन्हें मतदान प्रक्रिया में किसी भी तरह की गड़बड़ी का सबूत देने की चुनौती दी।

नतीजों से पता चलेगा कि 2014 के बाद से अपनी घटती मौजूदगी के बाद कांग्रेस भाजपा को कोई बड़ी चुनौती दे सकती है या नहीं। अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और राहुल गांधी समेत कांग्रेस नेताओं ने 295 सीटें जीतने का भरोसा जताया है और दावा किया है कि यह मोदी युग का अंत होगा। इंडिया ब्लॉक का मानना ​​है कि कल्याण और संवैधानिक अखंडता पर उसका ध्यान मतदाताओं को पसंद आएगा।

अगर मोदी जीतते हैं, तो वे जवाहरलाल नेहरू के रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे, जिन्होंने अपनी पार्टी को लगातार तीन चुनावी जीत दिलाई थी। इस नतीजे का असर तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी), बीजू जनता दल (बीजेडी) और वाईएसआर कांग्रेस जैसी क्षेत्रीय पार्टियों पर भी पड़ेगा, जो वर्तमान में क्रमशः पश्चिम बंगाल, ओडिशा और आंध्र प्रदेश में सत्ता में हैं। एग्जिट पोल बताते हैं कि भाजपा इन राज्यों में एक मजबूत ताकत के रूप में उभर सकती है, जो संभावित रूप से मौजूदा पार्टियों को पछाड़ सकती है।

चुनाव परिणाम शरद पवार और उद्धव ठाकरे जैसे क्षेत्रीय दिग्गजों और चुनाव लड़ने वाले विभिन्न केंद्रीय मंत्रियों और पूर्व मुख्यमंत्रियों के राजनीतिक भाग्य का भी निर्धारण करेंगे। वाराणसी से चुनाव लड़ने वाले मोदी और अमित शाह और राजनाथ सिंह जैसे वरिष्ठ कैबिनेट सदस्यों की जीत के अंतर पर भी कड़ी नजर रखी जाएगी।



3 bhk flats in dwarka mor
- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Canada And USA Study Visa

Latest article