19.5 C
Munich
Monday, July 22, 2024

टी20 विश्व कप में हार के बाद पाकिस्तान की टीम को केंद्रीय अनुबंध से हटाया जा सकता है या पदावनत किया जा सकता है


पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) अपनी पुरानी चयन समिति प्रणाली पर वापस जाने के लिए पूरी तरह तैयार है। यह निर्णय इसलिए लिया जा रहा है क्योंकि मुख्य चयनकर्ता न होने का उनका प्रयोग उनके मन मुताबिक काम नहीं आया, जिससे न केवल आईसीसी पुरुष क्रिकेट विश्व कप में बल्कि विश्व कप में भी विनाशकारी परिणाम सामने आए। टी20 विश्व कप 2024 तक की अवधि में ही नहीं, बल्कि उससे पहले के महीनों में भी इसकी संभावना है।

अंतिम परिणाम चौंकाने वाले रहे। टूर्नामेंट के 2022 संस्करण के फाइनलिस्ट रहे मेन इन ग्रीन इस बार सुपर 8 चरण में भी जगह नहीं बना पाए। संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएसए) से करारी हार के बाद चिर प्रतिद्वंद्वी भारत से हार का सामना करना पड़ा, जहां वे जीत सकते थे, लेकिन वे टूर्नामेंट के अगले दौर में आगे बढ़ने में विफल रहे।

इस घटनाक्रम से जुड़े एक सूत्र ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया, “बोर्ड (पीसीबी) दो या तीन चयनकर्ताओं के साथ एक मुख्य चयनकर्ता रखने की पुरानी प्रणाली पर वापस लौटने की संभावना है और कप्तान और मुख्य कोच चयनकर्ताओं के साथ चयन बैठकों में नहीं बैठेंगे।”

यहां पढ़ें | IND vs BAN के शीर्ष रिकॉर्ड, T20I आंकड़े: सर्वाधिक छक्के, रन, जीत, विकेट और बहुत कुछ

वहाब रियाज़ उस चयन समिति का हिस्सा थे जिसने अमेरिका में आईसीसी इवेंट में भाग लेने वाली टीम का चयन किया था, लेकिन संभावना है कि वह नए सेटअप का भी हिस्सा होंगे और नए मुख्य चयनकर्ता भी हो सकते हैं, हालांकि इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। वहाब उस पुरानी प्रणाली के खत्म होने से पहले भी मुख्य चयनकर्ता रह चुके हैं जिसमें मुख्य चयनकर्ता की अध्यक्षता में तीन या चार सदस्यीय राष्ट्रीय चयन समिति हुआ करती थी।

नई व्यवस्था के तहत कप्तान और मुख्य कोच बाबर आज़म और गैरी कर्स्टन के पास चयन के अधिकार थे और दोनों के पास सलाह और मदद के लिए एक डेटा विश्लेषक और पूर्व क्रिकेटर थे। पूर्व क्रिकेटरों में रियाज़ के साथ मोहम्मद यूसुफ़, अब्दुल रज्जाक और अन्य शामिल थे।

पाकिस्तानी खिलाड़ियों को केंद्रीय अनुबंध से हटाया जा सकता है या पदावनत किया जा सकता है

इस बीच, पाकिस्तानी खिलाड़ियों को पदावनत किये जाने या केंद्रीय अनुबंध से हटाये जाने की संभावना है।

यह भी पढ़ें | गौतम गंभीर नहीं, महान टेस्ट बल्लेबाज जिम्बाब्वे दौरे पर टीम इंडिया का कोच बनेगा

पीटीआई की उसी रिपोर्ट में पीसीबी सूत्र के हवाले से कहा गया है, “सबसे अधिक संभावना है कि जिन खिलाड़ियों के पास केंद्रीय अनुबंध है, उन्हें खराब प्रदर्शन के कारण पदावनत किया जाएगा या यहां तक ​​कि बाहर भी किया जाएगा तथा खिलाड़ियों को दिए जाने वाले अन्य लाभों पर भी विचार किया जाएगा।”

3 bhk flats in dwarka mor
- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Canada And USA Study Visa

Latest article